कासगंज: हज़ारों किसानों के करोङों लेकर निवेश कंपनी अता पता लापता।



कासगंज: हज़ारों किसानों के करोङों लेकर निवेश कंपनी अता पता लापता।

(अमित तिवारी) : घोटालों की अगली श्रृंखला में कासगंज जनपद के साथ एक नया घोटाला और जुड़ गया, जिसमें एक फ़र्ज़ी निवेश कंपनी का एक ग्रुप जोकि कासगंज जनपद के ही हज़ारों किसानों के करोङों रुपयों को लेकर उड़ गया है।



पीड़ित किसान निवेशकों का कहना कि वर्ष 2011 से 2016 तक एक ही मालिकाना ग्रुप की भिन्न भिन्न निवेश कंपनियों ने जनपद कासगंज से हज़ारों किसानों के तकरीबन 3 से 4 करोड़ रुपयों का कलेक्शन किया और तत्पश्चात फरार हो गई, वहीं कुछ निवेशकों का कहना है कि कंपनी द्वारा निवेश में गड़बड़ी की शिकायतें मिलने पर SEBI (Securities and Exchange Board of India) ने कंपनी के दफ्तरों पर ताला लगा दिया और उसके मालिकों को हिरासत में लेकर कानूनी कार्यवाही की।



पिछले 3 वर्षों से किसान निवेशक अपनी जमा पूंजी को पाने के लिए कासगंज से लेकर दिल्ली के जंतर मंतर तक हो आये पर उनकी धन वापसी की कोई गारंटी न मिल सकी।



इस वित्तीय घोटाले की रकम से कंपनी द्वारा कासगंज के सोरों लहरा रोड पर बड़ी संख्या में जमीन खरीद भी बताई जा रही है।




निवेशक किसान हरदेव धनीराम महिपाल संजय पातीराम हरनाम धर्मपाल रमेश अमरसिंह व सुभाष का  कहना है कि उन्हें यह समझ नहीं आ रहा है कि उनके खून पसीने की कमाई बापस कैसे मिलेगी।

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।