एक नदी जो धीरे धीरे नाले में तब्दील हो गयी





एक नदी जो धीरे धीरे नाले में तब्दील हो गयी

(अमित तिवारी) सोरों जी/कासगंज: 125 किलोमीटर लंबी पौराणिक नदी बूढ़ी गंगा जो धीरे धीरे नाले में तब्दील हो गयी, अल्लीपुर बरबारा के पास गंगा जी से निकलकर यह मरी हुयी नदी बघरई और फिर कम्पिल से पूर्व गंगा जी में जाकर ही मिल जाती है, बूढ़ी गंगा के किनारे कई प्राचीन पौराणिक नगरों का सन्दर्भ मिलता है, सोरों जी के बाद राम छितौनी पटियाली और कम्पिल सभ्यता इसका मौजूदा प्रमाण हैं, सोरों जी के तीर्थ पुरोहित बताते हैं कि तक़रीबन 4 सौ वर्ष पूर्व भौगोलिक परिवर्तनों व इंसानी अतिक्रमण के कारण धीरे धीरे नाले में तब्दील हो गयी, कभी दर्जनों गांव की जीवन दायिनी रही बूढ़ी गंगा अब अपने अस्तित्व के लिए लड़ रही है, 



कासगंज जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह ने इस मरी हुयी नदी को फिर से पुनर्जीवित करने का वीणा उठाया है, 


बीते दिनों इस नदी के मौजूदा स्वरुप की सफाई के लिए तक़रीबन 25 हज़ार लोगों ने श्रम दान किया, परन्तु इन तमाम प्रयासों के बावजूद सोरों जी हरिपदी घाट के पास से गुजर रही इस बूढ़ी गंगा का स्वरुप देखकर आपका ह्र्दय द्रवित हो जायेगा, सोरों जी नगर पालिका की ओर से इस नदी को स्वच्छ रखने के कोई प्रयास नज़र नहीं आते, 


सोरों जी नगर पालिका क्षेत्र में इस नदी के हालात बेहद नारकीय स्थिति में है, आस पास के इलाके का सीवर बूढ़ी गंगा में डाला जा रहा है, गंदगी और प्लास्टिक से अटी पटी यह नदी अब एक नाला बन चुकी है,

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।