पैसों के लिए निर्दोषों को फंसाने बाला कथित बकील गिरफ्तार, कासगंज पुलिस का खुलासा.. जिसे पढ़कर आपका दिमाग चकरा जायेगा,




पैसों के लिए निर्दोषों को फंसाने बाला कथित बकील गिरफ्तार,
  
कासगंज पुलिस का खुलासा.. जिसे पढ़कर आपका दिमाग चकरा जायेगा,

(अमित तिवारी) कासगंज। अपराध और अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे विशेष अभियान के अंतर्गत कासगंज पुलिस अधीक्षक व अपर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में एक ऐसे केस का खुलासा हुआ है कि जिसे पढ़कर आपका दिमाग चकरा जायेगा, नाबालिग लड़कियों को अपने जाल में फंसाकर उनके साथ घिनौने कृत्य कर और बंधक बनाकर व ब्लैकमेल कर उन लड़कियों से अन्य निर्दोषों के विरुद्ध बलात्कार के फर्जी शिकायतें करवाकर लाखों की रकम ऐंठना एक कथित बकील नारायण पचौरी का पेशा था, फ़िलहाल नारायण पचौरी नाम के इस कथित बकील को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है,
इस पूरे घिनौने ट्रेप को समझने के लिए हमें थोड़ा पीछे जाना होगा,
दरअसल कुछ दिन पूर्व जनपद के थाना सिढ़पुरा क्षेत्रान्तर्गत ग्राम सींगपुर निवासी सुदामाचरन का गांव के ही श्याम सन्दर,  रुपकिशोर, चन्द्रशेखर आदि से जमीनी विवाद चल रहा था इस प्रकरण में 30 मई को  सुदामाचरन की पुत्री रूबी (काल्पनिक नाम) द्वारा थाना सिढ़पुरा पर विपक्षी श्याम सुन्दर आदि के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत कराया गया था जिसकी विवेचना उप निरीक्षक नितिन कुमार द्वारा सम्पादित की जा रही थी,
मुक़दमे की पैरवी के दौरान सुदामाचरन की पुत्री रूबी की मुलाक़ात कथित बकील नारायण पचौरी से हो गयी, मुक़दमे में सहयोग करने के नाम पर कथित बकील नारायण पचौरी ने नाबालिग रूबी को अपने जाल में फंसा लिया और बहला फुसलाकर उसे बंधक बना लिया, कथित बकील नारायण पचौरी ने रूबी के नाम से यह शिकायतें प्रेषित कीं कि उक्त जमीनी विवाद में अगर कोई कारवाही नहीं हुयी तो रूबी आत्महत्या कर लेगी,
आत्महत्या कर लेने के धमकी का लिखित मामला संज्ञान में आते ही पुलिस ने रूबी की खोजबीन शुरू कर दी परन्तु उसकी कहीं कोई जानकारी नहीं मिली, पुलिस ने रूबी की जानकारी के लिए उसके भाई सुल्तान से संपर्क किया, पता लगा कि रूबी एक कथित बकील नारायण पचौरी के कब्जे में है, रूबी के भाई सुल्तान ने नारायण पचौरी के विरुद्ध अपनी बहन को बंधक बनाये रखने का मामला पंजीकृत कराया, रूबी के भाई सुल्तान की शिकायत पर पुलिस ने रूबी को तीन दिन पूर्व पडोसी जनपद बदायूं से मुक्त कराते हुए कथित बकील नारायण पचौरी को भी गिरफ्तार कर लिया,
पुलिस के समक्ष रूबी के सनसनीखेज बयानों से एक और बड़े जुर्म का खुलाशा हुआ जिसमें नाबालिग रूबी को मोहरा बनाकर कथित बकील नारायण पचौरी ने पैसों के लिए अन्य निर्दोषों के विरुद्ध फर्जी बलात्कार के मुकदमे लगवाए, मुक़दमे में जेल गए निर्दोषों से मुकदमा बापस लेने के नाम पर नारायण पचौरी द्वारा लाखों रुपयों की मांग की गयी, नाबालिग रूबी ने अपने बयानों में बताया कि बलात्कार की रिपोर्ट पोजिटिव बनाने के लिए नारायण पचौरी ने उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया, कथित बकील नारायण पचौरी ने रूबी के नाम से कई निर्दोषों के विरुद्ध फर्जी शिकायतें कीं, तमाम प्रकरणों में उसने सुलहनामे के नाम पर निर्दोषों से लाखों की रुपयों डिमांड की, कासगंज घंटाघर इलाके के एक व्यापारी पर फर्जी बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराकर उसे जेल भिजवाया दिया गया, वहीँ एक बिजली विभाग के बाबू से भी फर्जी बलात्कार की शिकायत के नाम पर लाखों रुपयों की मांग की गयी,
उक्त अभियुक्त नारायण पचौरी द्वारा गरीब व असहाय लोगों को मोहरा बनाकर निर्दोष लोगों के विरूद्ध फर्जी अभियोग पंजीकृत कराकर शासन द्वारा मिलने वाले आर्थिक अनुदान को स्वयं के हितों को सिद्ध करने हेतु इस्तेमाल किया जाता था, यह इस कथित बकील का पेशा था, कथित बकील  नारायण पचौरी पुत्र रामनरेश पचौरी निवासी  बड़ा गांव कोटरा थाना सहावर जनपद कासगंज का लम्बा आपराधिक इतिहास बताया जाता है, ग्रामीणों के अनुसार कासगंज से लेकर सहावर तक तमाम लूट राहजनी भी इसका अपंजीकृत इतिहास है, पुलिस इसके और भी अपराधिक इतिहास को खंगाल रही है कि इसके जुर्म की फेहरिस्त कितनी लम्बी है,

    




Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।