(अमित तिवारी) कासगंज स्टेट बैंक घोटाला: तीन दर्जन गांव के सैकड़ों किसानों का करोड़ों रुपया लेकर बैंक एजेंट फरार,




तीन दर्जन गांव के सैकड़ों किसानों का करोड़ों रुपया लेकर बैंक एजेंट फरार,

गोरहा/कासगंज: नोटबंदी के दौरान बैंक खातों में पुराना रुपया जमा करने के नाम पर गोरहा स्टेट बैंक ग्राहक सेवा केंद्र के एजेंट द्वारा करोड़ों के घोटाले अंजाम को अंजाम दिए जाने का मामला सामने आया है,
घोटाले की खबर उजागर होते ही गोरहा स्टेट बैंक ग्राहक सेवा केंद्र का एजेंट अर्जुन पिछले कई दिनों से फरार बताया जा रहा,
दरअसल मामला नोट बंदी के दौरान का है, किसानों का आरोप है कि  जब बैंक खातों में पुराने नोटों को जमा करने को लेकर गोरहा के स्टेट बैंक ग्राहक सेवा केंद्र पर जद्दोजहद चल रही थी, तब इस केंद्र के संचालक अर्जुन ने बैंक खातों में रुपया जमा करने के नाम पर तीन दर्जन गांव के सैकड़ों किसानों के करोड़ों को हड़पकर एक बड़े घोटाले को अंजाम दे दिया,  
घोटाले के शिकार हुए कुछ किसानों से हमारी मुलाकात हुयी है जो अर्जुन पर घोटाले का आरोप लगा रहे हैं उनमें से नगला हीरा कुसुमा के  450300 रुपया, डोरई विशाल कुमार के  29000, डोरई शशि के 110298, नगला कंचन धन्वेश्वरी के 45000, नगला हीरा रामचंद्र के परिवार के 70000, नगला हीरा कृष्ण कुमार के 54500, राजाराम के 59964, नगला हीरा नीरज के 25000,
नगला कंचन मुनीश कुमार के 13369, नगला हीरा जयचंद के 217379, रामपुर एटा लालाराम के 20500, नगला हीरा पुष्पा देवी के 15000, नगला बंजारा रघुवीर के 73740, नगला बंजारा अमन कुमार के 101360, नगला बंजारा प्रवीण कुमार के 53300, नगला बंजारा रोशन के 81010 रुपया व प्रेमपाल, पवित्रा देवी, शुरेशपाल, वीरपाल, सुम्मेर, पुष्पेन्द्र, महेश, मिथलेश, प्रदीप, मायादेवी, जाहिदा, जावित्री आदि सैकड़ों किसानों की करोड़ों रुपयों की जमां पूँजी लेकर घोटालेबाज अर्जुन कहीं फरार हो गया है, इस पूरे मामले से सम्बंधित कासगंज स्टेट बैंक की कृषि विकास शाखा के प्रबंधतंत्र ने अपना पल्ला झाड लिया है,  
जानकारी के अनुसार गोरहा नगला हीरा डोरई पहाडपुर नगला भभूति लोहर्रा गुरेहना नगला बंजारा मामों नगला खंजी नगला सुरजी खैरपुर नगला कंचन नगला दौली नगला सतावर नगला सूखा नगला झद्दी गुड्गुडी ब्रह्मपुरी बहेडिया मुसावली  रजपुरा हरनाथपुर भनुपुरा देवरी व प्रह्लादपुर के सैकड़ों किसानों के जीवनभर की जमां पूँजी लेकर अर्जुन फ़िलहाल फरार है,

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।