भगवान कृष्ण के पुत्र प्रद्युम्न ने की थी लहरा के लहरेश्वर अर्धनारीश्वर महादेव की प्राण प्रतिष्ठा- दर्शन को लगता है भक्तों का तांता,





भगवान कृष्ण के पुत्र प्रद्युम्न ने की थी लहरा के लहरेश्वर अर्धनारीश्वर महादेव की प्राण प्रतिष्ठा- दर्शन को लगता है भक्तों का तांता,
फोटो -1
(अमित तिवारी) कासगंज। श्रष्टि के प्रारंभ काल से ही सोरों जी व उसके आसपास का क्षेत्र सनातन सभ्यता का एक प्रमुख केंद्र रहा है, सोरों जी से उत्तर दिशा की ओर 6 किलोमीटर की दूरी पर लहरा गांव व् गंगा तट स्थित एक प्राचीन शिव मंदिर है जो लहरेश्वर अर्धनारीश्वर महादेव के नाम से प्रचिलित है, मान्यता है कि इस मंदिर में लहरेश्वर अर्धनारीश्वर महादेव की स्थापना व प्राण प्रतिष्ठा स्वंय भगवान कृष्ण के पुत्र प्रद्युम्न ने ही की थी, इस मंदिर में रुद्राभिषेक करने वाले श्रद्धालु की प्रत्येक मनोकामना पूर्ण होती है, 




इनसाइड:
शिव त्रयोदशी के दिन विभिन्न शिवालयों पर दर्शन को लगा भक्तों का तांता


सोमवार शिव त्रयोदशी के दिन लहरा के लहरेश्वर अर्धनारीश्वर महादेव मंदिर, दरियावगंज के पास मार्कन्डेय ऋषि आश्रम में स्थापित मार्कंडेयश्वर महादेव, सोरों जी के सोमेश्वर मंदिर, महाकालेश्वर, मनकामेश्वर, योगेश्वर,  नीमेश्वर,  भूतेश्वर,  चंद्रेश्वर,  रूपेश्वर, दूधेश्वर, कटरेश्वर,  कालीशंकर महादेव, काशीनाथ, व कासगंज शहर के भूतेश्वर मंदिर,  मालगोदाम मंदिर, चामुंडा मंदिर, पंखवाला बाग मंदिर,  प्रभुपार्क मनकामेश्वर मंदिर,  शेरनाथ मंदिर, एवं पटियाली में पाताली महादेव मंदिर पर लाखों भक्तों ने दीप धूप अगरवत्ती गंगा जल दूध दही शहद चन्दन आदि अर्पित करते हुए जलाभिषेक रुद्राभिषेक किया

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।