(अमित तिवारी) सोरों जी : होलिका नगरी में वराह संग होली


होलिका नगरी में वराह संग होली



रंग पंचमी के दिन वायुमंडल में उड़ाए जाने वाले विभिन्न रंगों के रंग कणों की ओर विभिन्न देवताओं के तत्व आकर्षित होते हैं। ब्रह्मांड में कार्यरत सकारात्मक तरंगों के संयोग से होकर जीव को देवता के स्पर्श की अनुभूति देकर देवता के तत्व का लाभ मिलता है।


होलिका मैया की नगरी सोरों जी में रंग पंचमी के दिन वराह भगवान संग होली खेलने की प्राचीन परंपरा है,


दिन सोमवार तिथि रंगपंचमी को अनेकों सुसज्जित झांकियों के साथ पुष्प व गुलाल उड़ाते नृत्य करते हज़ारों श्रद्धालुओं ने भगवान वराह मंदिर से लेकर बड़ा बाजार तक भव्य शोभा यात्रा संपन्न की,   


रंग विरंगे मोतियों से जड़े पारंपरिक परिधान आभूषण मुकुट  पहनकर नगर वासियों ने रंग पंचमी की वराह संग होली का आनंद लिया,

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।