इस बार हाईटेक होगा निर्वाचन, सीसीटीवी कैमरा स्थेतिक सर्विलांस सिस्टम जीपीएस ट्रेकिंग व सी-विजिल मोबाइल एप के जरिये रहेगी निगरानी।





इस बार हाईटेक होगा निर्वाचन, सीसीटीवी कैमरा स्थेतिक सर्विलांस सिस्टम जीपीएस ट्रेकिंग व सी-विजिल मोबाइल एप के जरिये रहेगी निगरानी

(अमित तिवारी) कासगंज। चुनाव आयोग द्वारा 17 वें लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 के लिए कार्यक्रम नियत कर दिया गया है, दिनांक 12 मार्च दिन मंगलवार को कासगंज जनपद मुख्यालय सभागार में जिलाधिकारी व अपर जिलाधिकारी द्वारा निर्वाचन संबंधी प्रमुख जानकारियों को साझा करने हेतु एक प्रेस वार्ता आयोजित की गयी, 
जिलाधिकारी कासगंज ने बताया कि इस बार का निर्वाचन बेहद हाईटेक होगा, क्योंकि इस बार निर्वाचन में आधुनिक सूचना प्रोद्योगिकी का भरपूर इस्तेमाल किया जा रहा है, जिलाधिकारी ने बताया कि निगरानी के लिए प्रत्येक थाना-वार स्थेतिक सर्विलांस सिस्टम एक्टिवेट रहेगा, वहीँ 3 वीडियो सर्विलांस सिस्टम भी काम करेंगे, इसके अलावा 9 फ़्लाइंग स्क्वाइड वाहनों की जीपीएस ट्रेकिंग की जाएगी, 



इस बार भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा सी-विजिल के नाम से एक मोबाइल एप भी विकसित किया गया है, जिसे आप अपने एंड्राइड मोबाइल फोन के प्ले-स्टोर में जाकर आसानी से डाउनलोड कर अपने मोबाइल नंबर व अपने नाम पते की संक्षिप्त जानकारियों के साथ इस एप को रजिस्टर कर सकते हैं, अगर कोई प्रत्याशी अथवा उसका समर्थक आपको आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करता हुआ प्रतीत हो तो तत्काल आप इस सी-विजिल नाम के मोबाइल एप पर लाइव फोटो विडियो अपलोड कर सकते हैं, इस मोबाइल एप के जरिये सूचना अपलोड करने वाले नागरिकों की पहचान गुप्त रखी जाएगी, वहीँ जनपद के सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व सभी लेखपालों को स्मार्ट फोन आवंटित किये जा रहे हैं, जिनमें निर्वाचन सम्बन्धी एप्लीकेशन के साथ साथ सी-विजिल एंड्राइड  टूल्स भी एक्टिवेट रहेगा, जिला अधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2019 को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देषों का शत प्रतिशत पालन करते हुये प्रत्येक दशा में स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण सम्पन्न कराया जायेगा, जिसके लिये जनपद में 10 जोनल मजिस्ट्रेट तैनात किये गये हैं, विधान सभा क्षेत्र कासगंज में 27 सेक्टर, अमांपुर में 27 सेक्टर तथा विधानसभा क्षेत्र पटियाली में 22 सेक्टर बनाये गये हैं,  22 एटा कासगंज लोकसभा निर्वाचन जो कि तृतीय चरण में 23 अप्रेल को होना निर्धारित है, जिसके परिणाम 23 मई को आयेंगे, तृतीय चरण के एटा कासगंज लोकसभा चुनाव के नाम नामांकन प्रारंभ  हेतु 28 मार्च दिन गुरूवार को निर्वाचन अधिसूचना जारी होगी, नाम नामांकन निर्देशन हेतु अंतिम दिनांक 4 अप्रेल दिन गुरुवार की तिथि निश्चित की गयी है, 5 अप्रेल दिन शुक्रवार को नाम नामांकन निर्देशनों की जांच व 8 अप्रेल दिन सोमवार को नाम नामांकन वापसी की अंतिम तारीख तय की गयी है, जिसके पश्चात 23 अप्रेल दिन मंगलवार को जनपद एटा कासगंज में एक साथ तृतीय चरण का मतदान संपन्न कराया जायेगा, तत्पश्चात 23 मई दिन गुरूवार को पूरे भारत वर्ष के चुनावी परिणाम एक साथ घोषित किये जायेंगे,
प्रेस वार्ता के दौरान जिलाधिकारी कासगंज ने कहा कि समय समय पर उनके द्वारा मीडिया को निर्वाचन अपडेट्स जारी कीं जातीं रहेंगीं,  






इनसाइड:

जिलाधिकारी ने किया मण्डी परिसर का गहन निरीक्षण। दिये आवश्यक दिशा निर्देश।
कासगंज।  जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह ने लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2019 को शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं व्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराने के लिये आज अमांपुर रोड स्थित मण्डी परिसर का गहन निरीक्षण किया।  निर्वाचन के दौरान मण्डी परिसर में ही मतगणना होगी तथा ईवीएम के लिये स्ट्रांग रूम की व्यवस्था की गई है। जहां पर्याप्त फोर्स उपलब्ध रहेगा। अधिकारियों, कर्मचारियों को विभिन्न स्तर का निर्वाचन प्रशिक्षण भी यहीं दिया जाना है।  निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र कुमार तथा अपर पुलिस अधीक्षक को यहां पर्याप्त सुरक्षा तथा अन्य आवश्यक व्यवस्थायें कराने के दिशा निर्देश दिये। इस अवसर पर सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी कर्णवीर सक्सैना व अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।