जैश की चेतावनी के बाद एलर्ट मोड पर कासगंज पुलिस, प्रमुख सार्वजनिक स्थलों पर एसपी का औचक निरीक्षण।



जैश की चेतावनी के बाद एलर्ट मोड पर कासगंज पुलिस, प्रमुख सार्वजनिक स्थलों पर एसपी का औचक निरीक्षण।

(अमित तिवारी) कासगंज। पुलवामा हमला और जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन की चेतावनी एवं सहारनपुर में दो आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद से कासगंज पुलिस एलर्ट मोड पर है,


शनिवार को अचानक ही कासगंज के एसपी अशोक कुमार शुक्ल व एएसपी पवित्र मोहन त्रिपाठी जो कि सुरक्षा की दृष्टि से कासगंज के प्रमुख सार्वजनिक स्थल जैसे बस स्टैंड, रेलवे जंक्शन का औचक निरीक्षण करने पहुंचे, एसपी कासगंज ने अपने अधीनस्थों को हर वक्त सतर्क रहने की निर्देश जारी किए है,
आतंकी गतिविधियों में संलिप्तता और संदेह के लिहाज से जनपद कासगंज पिछले कुछ वर्षों में सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर है,  राजस्थान एटीएस का मोस्ट वांटेड आईएम आतंकी अशरफ का सहावर कनेक्शन हो या अमांपुर में आईएम आतंकी अब्दुल बसर व् अब्दुल गुल का ठिकाना, कासगंज जंक्शन पर एक मूक बधिर आतंकी का संदिग्ध बस्तुओं के साथ हिरासत में लिया जाना हो  या फिर नदरई एक्वाडक्ट पर आईएस के स्लोगन लिखा जाना, और उसके कुछ दिन बाद ही कासगंज लाइव मीडिया पोर्टल को हैक कर उस पर पाकिस्तान का झंडा लगा देना, वहीं कासगंज हिंसा के दौरान कुछ घरों से खाना तलाशी में देसी बम व अबैध हथियारों कि बरामदगी होना इस बात को दर्शाता है कि आतंकी संलिप्तता के लिहाज से  कासगंज भी एक बेहद संवेदनशील स्थान है, इसलिए कासगंज पुलिस सुरक्षा और निगरानी में कोई कोताही बरतना नहीं चाहती है।


मौजूद व पूर्व घटनाओं को ध्यान में रखते हुए जनपद कासगंज में थाना पुलिस से लेकर क्विक रेस्पांस टीम, डायल 100, लोकल इंटेलिजेंस, सीसीटीवी कन्ट्रोल रूम आदि पुलिस यूनिट 24 घंटे एलर्ट मोड पर हैं,

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।