एक हॉलीवुड मूवी से प्रेरित अशंक मित्तल ने अब तक कर डाली 29 हज़ार किलोमीटर की भारत यात्रा




लाखों का सालाना पैकेज छोड़ एक हॉलीवुड मूवी से प्रेरित अशंक मित्तल ने अब तक कर डाली 29 हज़ार किलोमीटर की भारत यात्रा- शनिवार को सोरों जी यात्रा के दौरान हुयी मीडिया से मुलाकात

(अमित तिवारी) सोरों/कासगंज। लाखों का सालाना पैकेज छोड़ एक हॉलीवुड मूवी से प्रेरित होकर अशंक मित्तल ने भारत में ही अब तक 29 हज़ार किलोमीटर की यात्रा पूर्ण करली है, उनकी यह यात्रा अभी भी जारी है, पिछले 8 महीनों से अशंक मित्तल भारत भ्रमण पर निकले हैं, उनकी स्विफ्ट कार के पीछे एक साइकिल भी एंकर की हुयी है, वह बेहद रोमांचकारी अंदाज में भारत के सभी धार्मिक स्थलों को घूमने निकले हैं, इस यात्रा कि चुनाव से पूर्व उन्होंने शेल ल्युब्रिकेंट की सालाना लाखों रूपये पैकेज की अपनी एमबीए जॉब भी छोड़ दी है,
25 से 30 साल उम्र के बेहद जोशीले युवा अशंक मित्तल ने अब से 9 साल पूर्व एक "मोटर साइकिल डायरी" नाम की हॉलीवुड मूवी देखी थी, जिससे प्रेरित होकर उन्होंने इस तरह की एक बार में  भारत भ्रमण यात्रा करने की ठान ली थी, अशंक अब तक श्रीलंका से तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, गोआ, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब की तीर्थ यात्रा पूर्ण कर अब यूपी में भ्रमण कर रहे हैंउनका कहना है कि उन्होंने अबतक अनुमानित 29 हज़ार किलोमीटर की यात्रा करली है, वह अबतक  500 छोटे बड़े शहरों  के लगभग से हज़ार मंदिरों के दर्शन कर चुके हैं, 

सोरों जी यात्रा से अशंक वेहद रोमांचित दिखे, अशंक का कहना था कि उन्हें और उनके रिश्तेदारों को भी आज से पहले यह नहीं मालुम था कि सोरों जी स्रष्टि का सबसे श्रेष्ठ पौराणिक स्थल है, अशंक को अभी भारत के अन्य सभी राज्यों के मंदिरों के दर्शन करने बांकी हैं, इसलिए उनकी यह भारत भ्रमण यात्रा अभी जारी रहेगी। बातचीत के दौरान अशंक ने बताया कि भविष्य में वह एक बुक भी लिखना चाहेंगे जिसमें वह भारत की धार्मिक सांस्कृतिक भौगोलिक आदि विभिधताओं का सचित्र वर्णन करेंगे।

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।