कायस्थ महासभा ने काव्यगोष्ठी आयोजित कर मनाया नेताजी का जन्मदिन।

कायस्थ महासभा ने काव्यगोष्ठी आयोजित कर मनाया नेताजी का जन्मदिन।


कासगंज। स्वतंत्रता संग्राम के अमर सेनानी भारत रत्न नेता जी सुभाष चंद्र बोस की 122 वीं जयंती के अवसर पर आखिल भारतीय कायस्थ महासभा युवा के बैनर तले एक भव्य काव्य गोष्ठी का आयोजन बरिष्ठ भाजपा नेता नवल कुलश्रेष्ठ के आवास पर किया गया। सभा की अध्यक्षता सुरेश चंद्र कुलश्रेष्ठ ने की, वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में नवल कुलश्रेष्ठ मौजूद रहे, सभा का संचालन दीपक सक्सेना ने किया और कवि अचिंत सक्सेना ने  'मेरे गम की दवा दीजिये' गीत का काव्यपाठ किया। मनोज मंजुल ने कविता पढ़ी 'मेरी जान भी जाएगी तो वतन के लिए', जितेंद्र सक्सेना ने पढ़ा 'सच बात बोलने से किसी को रोकते नहीं' अखिलेश सक्सेना ने पड़ा 'भारत के स्वाभिमान को गिरने नही देंगे', नवल कुलश्रेठ ने कहा की हमें किसी भी कायस्थ महापुरुषों की जयंती को हमेशा याद रखना चाइये, इसके अलावा नेताजी सुभाष चंद्र बोस पर बोलते हुए संस्था अध्यक्ष केके सक्सेना ने कहा की अमर शहीदों के ऐसे जन्मदिन हम सबको प्रेरणा देते रहेगी, संचालन कर रहे दीपक सक्सेना ने नेता जी सुभाष चंद्र बोस के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा नेता जी के नारे तुम मुझे खून दो में तुम्हे आजादी दूंगा आज भी सार्थक है, काव्य गोष्ठी में मुख्य रूप से अतुल सक्सेना, केके सक्सेना, ललित मोहन कुलश्रेठ, नवल सक्सेना, अरविंद सक्सेना, आदित्य सरण सक्सेना, महेश चंद्र सक्सेना, नीरज सक्सेना आदि चित्रांश बंधु मौजूद रहे।

Comments

webmedia.page

साइकिल से ही यूरोप अफ्रीका व अरब देशों को पार कर सोरों जी पहुंचे रूसी यात्री मिखायू,

गंगा एक्सप्रेसवे बनने से कासगंज की तराई हो सकती है आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित।

कासगंज: वेस्ट सेल्फी इन द वर्ल्ड - छोटे शहर से इंटरनेशनल स्टार्टअप।

सोरों जी के संदर्भ में उद्योगपति रामगोपाल दुबे ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, अब अगली मुलाकात में भी सोरों जी के सर्वांगीण विकास को लेकर होनी है विस्तृत चर्चा।

हज़ारों चीखें न निकलें उससे पहले इसकी कराह सुन ली जाए तो बेहतर है,

कासगंज के आरके मिश्रा ने डिजाइन किया था तेजस का कॉकपिट- दशकों बाद अब वायुसेना में शामिल हुआ भारत का यह पहला लड़ाकू विमान,

कासगंज : ग्यारवीं के छात्रों द्वारा बनाई साइकिल दे रही है 50 का माइलेज।